प्राईवसी पोलीसी (गोपनीयता नीति)

विपश्यना (Vipassana) साधना की वेबसाईट पर आने के लिए आपका धन्यवाद। हमारी संस्थाओं के लिए आपकी प्राईवसी महत्वपूर्ण है। आपकी प्राईवसी अच्छी तरह सुरक्षित रखने के लिए, प्रोटेक्ट करने के लिए हम यह बता रहे हैं कि हम इन्फोर्मेशन (जानकारी) कैसे कलेक्ट (संग्रह) करते है एवं इस साईट पर एवं सामान्य रूपसे हमारे विश्वभर की संस्थाएं उसका कैसे उसका उपयोग करते हैं। कृपया इसका ध्यान रहे कि हमारी विश्व की संस्थाओं के प्राईवसी पोलीसी के कुछ बिंदू भिन्न-भिन्न देश में भिन्न-भिन्न हो सकते है।

हम क्या इन्फोर्मेशन कलेक्ट करते है, क्या जानकारी एकत्र करते है

अगर आप किसी विपश्यना शिविर के लिए ओनलाईन अथवा आवेदन पत्र भर कर रजिस्टर करते है तो आपकी निम्न व्यक्तिगत जानकारी एकत्र की जाती है- नाम, पता, ईमेल एड्रेस, टेलेफोन नंबर, फैक्स नंबर एवं बाकी आपके बारे में निजी जानकारी जो आवेदन पत्र पर अथवा रजिस्ट्रेशन पत्र पर पूछी जाती है। आपके द्वारा आवेदन पत्र में अथवा रजिस्ट्रेशन पत्र में दी गयी निजी जानकारी सुरक्षित तरिके से स्टोर की जाती है एवं वही लोग वह जानकारी हासिल कर सकते हैं जिन्हें उस विशिष्ट जानकारी को जानना जरूरी है, नीड टू नो बेसिस पर, जैसे कि कोर्स रजिस्ट्रार, सेंटर मॅनेजर, संचालक सहायक आचार्य।

अगर आप हमारी "विपश्यनाके बारेमे मित्रको बताना"( Tell A Friend About Vipassana) इस सेवाका लाभ लेना है तो आपको इलेक्ट्रॉनिक ग्रिटींग और हमारे वेबसाइटका पता उस व्यक्तिको भेजनेकेलिये आपका और उस व्यक्तिका ईमेल एड्रेस चाहिये।इस सेवामे इकठ्ठा होनेवाली आपकी व्यक्ति पहचान जानकारीमे आपका ईमेल पता और दुसरे व्यक्तिओंकी पहचान जानकारीके साथ ईमेल पानेवालेका ईमेल एड्रेस भी इस पन्नोंमे उपलब्ध होगा। जब आप हमारे वेब साईटपे जाएंगे तब हम आपके अव्यक्तिगत जानकारीभी जैसे की, कौनसा ब्राऊजर इस्तेमाल कर रहे हो (फायरफॉक्स, नेटस्केप,ऑपेरा या इंटरनेट एक्स्प्लोरर वगैरे), कौनसे प्रकारकी ऑपरेटिंग सिस्टिम इस्तेमाल कर रहे हो(विन्डोज, मॅक ओएस या लिनक्स वगैरे) और आपके क्षेत्रमे इंटरनेट सेवा देनेवालेका नाम ( जैसे अमेरिका ऑनलाइन, अर्थलिंक ) यह जानकारी भी लेंगे।

आपके जानकारीका हम कैसा उपयोग करते है

आपने आवेदन पत्र और रजिस्ट्रेशन फॉर्ममे दी हुइ जानकारीका उपयोग मुल्यांकन शिविर प्रवेश और रजिस्ट्रेशनके लिये करते है। अपने जिवनमे बार बार किये हुए शिविरकी जानकारी भी मिलती है। आगेके शिविर प्रवेश सुगम बनानेके लिय और साधकका इतिहास और अनुभवकी जानकारी रखनेके लिये हम साधकका डेटा रखेंगे। अगर उस प्रदेशका कायदा या आपने यह जानकारी नष्ट करनेको नही कहा हो तो यह जानकारी अनिश्चित काल तक रहेगी। अगर आपने मना न किया हो तो आपका नाम, पता और इमेलका उपयोग विपश्यनाका कार्य और सरलताकी जानकारी आपके पास भेजनेके लिये करेंगे। आपने "Tell a Friend" सेवासे दियी हुइ दुसरोंकी जानकारीका उपयोग उनको आपका ग्रीटिंग और हमारी वेबसाइटका पता भेजनेमे सुलभता होगी। कभी कभी आपके अव्यक्तिगत जानकारीका उपयोग हमारे साइटकी रुपरेखा और लिखीतका सुधार करनेमे होगा। और हमे समझनेमे सुविधा होगी कि हमारी साइट और साइटकी फाइल कौनसे स्थानसे देखी जाती है। इस विपश्यना वेब साइटसे आपकी व्यक्तिगत पहचानकी जानकारी कौनसेभी तिसरी व्यक्तिको वाणिज्य अथवा दुसरे उपयोगके लिये उपलब्ध नही होगी। हमारी कुछ स्थानिय वेबसाइट क्रेडीट कार्डसे दान स्विकार कर सकते जिसमे दानसे सबंधित आपकी वैयक्तिक जानकारी होगी। अन्यथा आपकी वैयक्तिक जानकारी हमारी संस्थाओसे जुडी हुइ संघटनाके अलावा दुसरोंको उपलब्ध नही होगी।अगर कानून या कोर्टऑर्डर होगी तोही यह जानकारी देंगे।

आपका आवेदन पत्र और पंजीकरण समय दी हुइ जानकारी विपश्यनाके सभी आचार्य और सहाय्यक आचार्य, साधना केंद्रके कर्मचारी और धम्मसेवकोंही जितनी जरुरत है उतनीही उपलब्ध होगी। यह जानकारी जिस केंद्र या अस्थायी केंद्रके रजिस्ट्रारको जिस शिविरके लिये दियी है उस स्थानपर प्रकटीकरण या तिसरे व्यक्तिसे पहुचसे दुर और सुरक्षित रखी जाती है। जिस शिविरके लिये आपने नाम दर्ज किया है उस प्रदेशके गोपनियता नीति अनुसार आपकी जानकारी संभाली, संचयित और उपयोगमे लायी जायेगी। जब आप ईंटरनेटसे इमेलव्दारा आवेदन भेजते है तब असावधानीसे आपकी जानकारी प्रकट होनेका संभव है। अगर इससे बचना है तो वेबसाइटके इमेल आवेदनपत्रका कृपया इस्तेमाल न करे।

आवेदन पत्र और इसमे दी हुइ व्यक्तिगत जानकारीकी कंप्युटरमे प्रक्रिया होती है और संभाली जाती है। इसके अलावा हमारे कंप्युटर विश्वमे बहुतसे देशोंमे स्थापित किये है। शिविरके लिये आपने आवेदन पत्रमे दी हुइ जानकारी कंप्युटरमे प्रक्रियास्वरुप संभालनेके लिये और दुसरे विभागमे स्थानांतरित करनेके लिये आपकी अनुमती है ऐसे समझा जाता है। साधकके कल्याणके लिये स्वास्थ और शिविरके अनुशासन विपरित वर्तन अथवा भविष्यमे साधकको प्रतिबंध लगानेके लिये अथवा भविष्यमे साधकको मदतके लिये यह जानकारी आवश्यक है। दुर्लभ घटनाओमे इसकी नोट कंप्युटरपे की जायेगी और सहाय्यक आचार्य और शिविरसे संबंधित रजिस्ट्रारके साथ बँटवारा करेंगे। आपका शिविरमे सहभाग याने एसे नोटका इस्तेमाल और दुसरे स्थानमे स्थानांतरीत करनेकी अनुमती ही होगी।

तिसरे स्थानसे जमा होनेवाली जानकारी

यह गोपनियता नीति सिर्फ आपने दी हुइ जानकारीका उपयोग और प्रसारके लिये है। हमारी वेब साइट दुसरेसे जुडी हुइ हो सकती है जिनकी जानकारी पध्दती अलग हो सकती है। अभ्यागत दुसरे साइटका गोपनियता नीतिका सलाह मसलत ले सकते है क्यो की तिसरे पक्षसे जमा होनेवाली जानकारी या देनेवाली जानकारीपर हमारा नियंत्रण नही। तिसरे पक्षपर हमारे विपश्यना संघटनाका नियंत्रण नही होनेके कारणसे आप तिसरे पक्षके गोपनियता नीतिके आधिन हो सकते है। अगर तिसरे पक्षने आपके व्यक्तिगत जानकारीका उपयोग और प्रसार किया तो आपकी जिम्मेदारी होगी। इसलिये, दुसरोंको अपनी जानकारी देनेके पहले आपको प्रश्न पुछनेको प्रोत्साहित करते है।

कुकीज

विपश्यना वेबसाइटमे ऐसा कोइभी पन्ना नही है जिसमे " कूकीज" का उपयोग किया है। कूकीज यह टेक्स्ट फाइल आपके कॉम्पूटरके ब्राऊजरमे आपके प्राथमिकताके लिये संग्रहित की जाती है। कुछ स्थानीय विपश्यना वेबसाइटने कूकीजका उपयोग किया हो सकता है।

बच्चोंकी प्रायवसी (गोपनियता)

हमारी विपश्यना संस्थाए विशेषतः बच्चोंकी जानकारी जमा नही करते, मगर बच्चोंकी सुरक्षा और उनकेउपर इंटरनेटके प्रभावपर हमे जानकारी चाहिये. एसलिये यु.एस. चिल्ड्रेन्स ऑनलाइन प्रायवसी पॉलिसी प्रोटेक्शन एक्ट १९९८ अनुरूप हम जानबुझकर कोइभी १३ सालसे कम उमरके बच्चेकी स्वयं पहचान करनेवाली जानकारी उनके पालकके सहमतीबिना नही लेंगे. अगर ऐसी जानकारी पालकके सहमतीबिना ले गयी है ऐसा मालूम हुआ तो वह हमारे डेटाबेससे तुरंत निकाली जाएगी.

प्रदेशकी विशिष्ट गोपनियता आवश्यकताए

किसेी प्रदेशको विशिष्ट गोपनियता अधिनियमोंकी आवश्यकता हो सकती है। विश्वभरके हमारे विपश्यना संघटनाओने इस आवश्यक विशिष्ट गोपनियता निती विकसित की है। इसमे उपर दिये हुए विशिष्ट विवरणमे सार्वजनीन तरिकेसे दिये हुए नितीमे फरक हो सकता है। विशिष्ट गोपनियता नितीकी प्रत आपको केंन्द्रपे मिलेगी जहा आप शिविर करने जा रहे हो।

ऑप्ट-आऊट/ ऑप्ट-इन

हम आपको हमारी विपश्यना संघटनाए इमेल या पोष्टसे आपको विपश्यना संबंधी मिलनेवाली जानकारीसे " ऑप्ट-आऊट" होनेका मौका देते है। दुसरी और "ऑप्ट-इन" करनेसे कुछ स्थानिय जानकारी मिल सकती है। अगर आप अपना नाम,इमेल पता, अथवा व्यक्तिगत जानकारी हमारे डेटाबेससे निकालना चाहते हो तो आप database-remove@dhamma.org. इस इमेल पतेपर लिखिये। आप स्थानिय विपश्यना केन्द्र या संघटनेसे संपर्क करके यह जानकारी निकालनेकी विनंती कर सकते हो।

आप हमसे कैसे संपर्क करे

अगर आपको गोपनियता के बारेमे अथवा विपश्यना वेब साइटकी पॉलिसी अथवा इनके कार्यान्वित करनेके बारेमे कोइ शंका या प्रश्न हो तो आप webmaster@dhamma.org साइटपर संपर्क कर सकते हो।

प्रभावकी तारिख

यह गोपनियता नीति १ नोव्हेंबर २००१ से प्रभावशाली है। हमारी विपश्यना संघटनाए जरूरत होनेपर इस नीतिमे कभीभी बदलाव करेगी। इस वेबसाइटका उपयोग करनेवाले उपर दिये हुए नीतिका स्विकार किया है एसे समझा जाता है।