प्राईवसी पोलीसी (गोपनीयता नीति)

Dhamma.org आपकी गोपनीयता की फिक्र करता है। जो कि यूरोपीय संघ में जीडीपीआर समेत दुनिया भर में नए डेटा संरक्षण नियम लागू होते हैं, इसलिए हमने सभी Dhamma.org उपयोगकर्ताओं के लाभ के लिए सुधार करने का अवसर लिया है। विशेष रूप से, हमने 25 मई, 2018 तक हमारी गोपनीयता नीति अपडेट की है। हम आपके सहनशक्ति की सराहना करते हैं जबकि हम अपडेट का अनुवाद करने पर काम कर रहे हैं। इस बीच नवीनतम संशोधन के लिए अंग्रेजी में गोपनीयता नीति से परामर्श लें। धन्यवाद

विपश्यना (Vipassana) साधना की वेबसाईट पर आने के लिए आपका धन्यवाद। हमारी संस्थाओं के लिए आपकी प्राईवसी महत्वपूर्ण है। आपकी प्राईवसी अच्छी तरह सुरक्षित रखने के लिए, प्रोटेक्ट करने के लिए हम इन्फोर्मेशन (जानकारी) कैसे कलेक्ट (संग्रह) करते है एवं इस साईट पर एवं सामान्य रूपसे हमारे विश्वभर की संस्थाएं उसका कैसे उसका उपयोग करते हैं यह हम बता रहे हैं। परंतु, कृपया इसका ध्यान रहे कि हमारी विश्व की संस्थाओं के प्राईवसी नितिया कुछ भिन्न-भिन्न देश में भिन्न-भिन्न हो सकते है। उस स्थानकी गोपनियता निती जाननेके लिये आप उस सेंटरके कोर्स रजिष्ट्रारसे पहुचनेके बाद संपर्क कर सकते है। धम्म.ऑर्गकी (Dhamm.org)गोपनियता नितिकी पीडिएफ(PDF) कॉपी डाउनलोड करनेकेलिये यहॉ क्लिक करे

हम यह जानकारी एकत्र करते है

अगर आप किसी विपश्यना शिविर के लिए ऑनलाईन अथवा आवेदन पत्र भर कर रजिस्टर करते है तो आपकी निम्न व्यक्तिगत जानकारी एकत्र की जाती है- नाम, पता, ईमेल एड्रेस, टेलेफोन नंबर, फैक्स नंबर एवं बाकी आपके बारे में निजी जानकारी जो आवेदन पत्र पर अथवा रजिस्ट्रेशन पत्र पर पूछी जाती है। आपके द्वारा आवेदन पत्र में अथवा रजिस्ट्रेशन पत्र में दी गयी निजी जानकारी सुरक्षित तरिके से स्टोर की जाती है एवं वही लोग वह जानकारी हासिल कर सकते हैं जिन्हें उस विशिष्ट जानकारी को जानना जरूरी है, नीड टू नो बेसिस पर, जैसे कि कोर्स रजिस्ट्रार, सेंटर मॅनेजर, संचालक सहायक आचार्य।

अगर आपको हमारी "विपश्यनाके बारेमे मित्रको बताना"( Tell A Friend About Vipassana) इस सेवाका लाभ लेना है तो आपको इलेक्ट्रॉनिक ग्रिटींग और हमारे वेबसाइटका पता उस व्यक्तिको भेजनेकेलिये आपका और उस व्यक्तिका ईमेल एड्रेस चाहिये।इस सेवामे इकठ्ठा होनेवाली आपकी व्यक्ति पहचान जानकारीमे आपका ईमेल पता और दुसरे व्यक्तिओंकी पहचान जानकारीके साथ ईमेल पानेवालेका ईमेल एड्रेस भी इस पन्नोंमे उपलब्ध होगा। जब आप हमारे वेब साईटपे जाएंगे तब हम आपके अव्यक्तिगत जानकारीभी जैसे की, कौनसा ब्राऊजर इस्तेमाल कर रहे हो (फायरफॉक्स, नेटस्केप,ऑपेरा या इंटरनेट एक्स्प्लोरर वगैरे), कौनसे प्रकारकी ऑपरेटिंग सिस्टिम इस्तेमाल कर रहे हो(विन्डोज, मॅक ओएस या लिनक्स वगैरे) और आपके क्षेत्रमे इंटरनेट सेवा देनेवालेका नाम ( जैसे अमेरिका ऑनलाइन, अर्थलिंक ) यह जानकारी भी लेंगे।

आपके जानकारीका हम कैसा उपयोग करते है

आपने आवेदन पत्र और रजिस्ट्रेशन फॉर्ममे दी हुइ जानकारीका उपयोग मुल्यांकन शिविर प्रवेश और रजिस्ट्रेशनके लिये करते है। अपने जिवनमे बार बार किये हुए शिविरकी जानकारी भी मिलती है। आगेके शिविर प्रवेश सुगम बनाने और साधकका इतिहास और अनुभवकी जानकारी रखनेके लिये हम साधकका डेटा रखेंगे। अगर उस प्रदेशका कायदा या आपने यह जानकारी नष्ट करनेको नही कहा हो तो यह जानकारी अनिश्चित काल तक रहेगी। अगर आपने मना न किया हो तो आपका नाम, पता और इमेलका उपयोग विपश्यनाका कार्य और सरलताकी जानकारी आपके पास भेजनेके लिये करेंगे। आपने "Tell a Friend" सेवासे दियी हुइ दुसरोंकी जानकारीका उपयोग उनको आपका ग्रीटिंग और हमारी वेबसाइटका पता भेजनेमे सुलभता होगी। कभी कभी आपके अव्यक्तिगत जानकारीका उपयोग हमारे साइटकी रुपरेखा और लिखीतका सुधार करनेमे होगा। और हमे समझनेमे सुविधा होगी कि हमारी साइट और साइटकी फाइल कौनसे स्थानसे देखी जाती है। इस विपश्यना वेब साइटसे आपकी व्यक्तिगत पहचानकी जानकारी कौनसेभी तिसरी व्यक्तिको वाणिज्य अथवा दुसरे उपयोगके लिये उपलब्ध नही होगी। हमारी कुछ स्थानिय वेबसाइट क्रेडीट कार्डसे दान स्विकार कर सकते जिसमे दानसे सबंधित आपकी वैयक्तिक जानकारी होगी। अन्यथा आपकी वैयक्तिक जानकारी हमारी संस्थाओसे जुडी हुइ संघटनाके अलावा दुसरोंको उपलब्ध नही होगी।अगर कानून या कोर्टऑर्डर होगी तोही यह जानकारी देंगे।

आपका आवेदन पत्र और पंजीकरण समय दी हुइ जानकारी विपश्यनाके सभी आचार्य और सहाय्यक आचार्य, साधना केंद्रके कर्मचारी और धम्मसेवकोंही "जितनी जरुरत है" उतनीही उपलब्ध होगी। गोपनीयता समझौतों और अन्य दस्तावेज़ीकरण के माध्यम से, हम यह सुनिश्चित करने के लिए सभी उचित कदम उठाते हैं कि इस तरह की जानकारी एक बार जिस केंद्र या गैर-केंद्र पर आपने शिविर के लिये आवेदन दिया है वहा के रजिस्ट्रार द्वारा उस स्थानपर प्रकटीकरण या तिसरे व्यक्तिसे पहुचसे दुर और सुरक्षित रखी जाती है। हाला कि, जिस शिविरके लिये आपने नाम दर्ज किया है उस  प्रदेशके गोपनियता नीति अनुसार आपकी जानकारी संभाली, संचयित और उपयोगमे लायी जायेगी। जब आप ईंटरनेटसे इमेलव्दारा आवेदन भेजते है तब असावधानीसे आपकी जानकारी प्रकट होनेका संभव है, क्योकि कुछ परिस्थिती मे हमारी इ मेल आवेदन सरलता सुरक्षित नही रहती है। अगर इससे बचना है तो वेबसाइटके इमेल आवेदनपत्रका कृपया इस्तेमाल न करे।

आवेदन पत्र और इसमे दी हुइ व्यक्तिगत जानकारीकी कंप्युटरमे प्रक्रिया होती है और संभाली जाती है। इसके अलावा हमारे भिन्न विपश्यना संघटना के कंप्युटर विश्वमे बहुतसे देशोंमे स्थापित किये है। शिविरके लिये आपने आवेदन पत्रमे दी हुइ जानकारी कंप्युटरमे प्रक्रियास्वरुप संभालनेके लिये और दुसरे विभागमे स्थानांतरित करनेके लिये आपकी अनुमती है ऐसे किसी शिविरके लिये आप आवेदन देनेसे समझा जाता है। वैसेही रजिस्ट्रेशन के प्रक्रिया दरम्यान आपसे मिली हुइ सभी जानकारी स्थानिय क्षेत्राधिकार के गोपनियता कानून के अनुसार उपयोग के लियेऔर संभाली जाएगी। अतिरिक्त, कुछ मामलेमे जिस केंद्र के लिये आवेदन दिया है उनके ईमेल सर्विस के लिये गुगल ॲप के जरिये भेज सकते है। परिणामी उस केंद्र को भेजे हुए आपके आवेदन के डेटाका व्यवस्थापन गुगल के गोपनियता निती और सुरक्षा के आधिन होगी, जैसा की उनकी प्रकाशनोमे होता है जो उनकी वेबसाइटोंपर उपलब्ध है। साधकोंके कल्याण के लिये, स्थानिय या विभागिय विपश्यना संघटन इस शिविर के संबंध मे स्वास्थ पर नोट्स लेने और बनाए रखना आवश्यक मान सकता है जो शिविरके अनुशासन विपरित वर्तन अथवा भविष्यमे साधकको प्रतिबंध लगानेके लिये अथवा भविष्यमे साधकको मदतके लिये यह जानकारी आवश्यक है। ऐसा होनेके दुर्लभ घटनाओमे, यह हमारी समझ है कि स्थानिय या क्षेत्रिय विपश्यना संघटन यह सुनिश्चित करेगा कि इसकी नोट कंप्युटरपे की जायेगी और भविष्य मे होनेवाले शिविर के सहाय्यक आचार्य और शिविरसे संबंधित रजिस्ट्रारके साथ विश्वासपूर्वक साझी कि जायेगी। आपका शिविरमे सहभाग याने ऐसे नोटका हस्तांतरण और संग्रह और लागू कानुनोंके आधिन दुसरे स्थानमे स्थानांतरीत करनेकी स्पष्ट सहमती ही होगी, जिनमे नीचे चर्चा कि गयी ("विशिष्ट गोपनियता आवश्यकताए") शामिल है। ऐसे नोट्रस कैसे रखे जाते है इसके बारेमे अधिक जानकारी आप जानना चाहते हो तो आपको स्थानिय या क्षेत्रिय विपश्यना संघटन से संपर्क करना चाहिये कि ऐसे नोट्स और अन्य व्यक्तिगत डेटा से संबंधित क्या गोपनियता पॉलिसी है। 

तिसरे स्थानसे जमा होनेवाली जानकारी

यह गोपनियता नीति सिर्फ आपने दी हुइ जानकारीका उपयोग और प्रसारके लिये है। हमारी वेब साइट दुसरेसे जुडी हुइ हो सकती है जिनकी जानकारी पध्दती अलग हो सकती है। अभ्यागत दुसरे साइटका गोपनियता नीतिका सलाह मसलत ले सकते है क्यो की तिसरे पक्षसे जमा होनेवाली जानकारी या देनेवाली जानकारीपर हमारा नियंत्रण नही। तिसरे पक्षपर हमारे विपश्यना संघटनाका नियंत्रण नही होनेके कारणसे आप तिसरे पक्षके गोपनियता नीतिके आधिन हो सकते है। अगर तिसरे पक्षने आपके व्यक्तिगत जानकारीका उपयोग और प्रसार किया तो आपकी जिम्मेदारी होगी। इसलिये, दुसरोंको अपनी जानकारी देनेके पहले आपको प्रश्न पुछनेको प्रोत्साहित करते है।

कुकीज

 "कुकीज" यह एक अल्प जानकारीकी टेक्स्ट फाइल है। जब आप हमारी वेबसाईट देखतो हो तब आपके कॉप्युटर पर यह जानकारी हमारे सर्वरसे डाऊनलोड कि जाती है। फ़ाइल में एक अद्वितीय संख्या है ताकि हमारे सर्वर को पता चल सके कि यह किस पीसी से बात कर रहा है। जब आप शिविर के लिए पंजीकरण करने के लिए हमारे ऑनलाइन आवेदन फॉर्म का उपयोग करते हैं तो हम सेशन कुकी बनाते हैं। इस सेशन कुकीज का उपयोग यह जानने के लिए भी करते हैं कि आपने पुराने छात्र के रूप में लॉग इन किया है या नहीं। कुछ कुकीज़ केवल आपके पीसी पर वेबसाइट पर जाने की अवधि के लिए आवंटित की जाती हैं, और इन्हें सत्र आधारित कुकीज़ कहा जाता है। जब आप अपना ब्राउज़र बंद करते हैं तो ये स्वचालित रूप से हटा दिए जाते हैं। कुछ अन्य "क्षेत्रीय" विपश्यना वेबसाइट कुकीज़ का भी उपयोग कर सकती हैं।

बच्चोंकी प्रायवसी (गोपनियता)

यु.एस. चिल्ड्रेन्स ऑनलाइन प्रायवसी पॉलिसी प्रोटेक्शन एक्ट १९९८(और GDPR सहित अन्य देशोंके तुलनीय कानून)अनुरूप हम जानबुझकर कोइभी १३ सालसे कम उमरके बच्चेकी स्वयं पहचान करनेवाली जानकारी उनके पालकके सहमतीबिना नही लेंगे. अगर ऐसी जानकारी पालकके सहमतीबिना ले गयी है ऐसा मालूम हुआ तो वह हमारे डेटाबेससे तुरंत निकाली जाएगी.

 विशिष्ट गोपनियता आवश्यकताए

किसेी प्रदेशकी कोई विशिष्ट गोपनियता अधिनियमोंकी आवश्यकता हो सकती है इसपर आप ध्यान दे। विश्वभरके हमारे विपश्यना संघटनाओने इस आवश्यकता को पुरा करने के लिये  विशिष्ट गोपनियता नीति विकसित की है, जिसमे  सार्वजनीन तरिकेसे उपर  दिये हुए नीतिसे  फरक हो सकता है। विशिष्ट गोपनियता नीतिकी प्रत आपको केंन्द्रपे जिस केंद्र के लिये आपने आवेदन / रजिस्ट्रेशन फॉर्म दिया है वहां या शिविर स्थान पे शिविर रजिस्ट्रार से संपर्क करनेसे आपको आनेके बाद मिलेगी।

धम्म.ऑर्ग(Dhamma.org) उन व्यक्तियों के "अधिकारों और स्वतंत्रताओं" की सुरक्षा के लिए प्रतिबद्ध है जिनकी जानकारी  कानूनों के अनुसार धम्म.ऑर्ग एकत्रित करती   है . उस कानून में सामान्य डेटा संरक्षण विनियमन (जीडीपीआर) भी  अंतर्भूत है लेकीन इतनाही मर्यादित नही .

आपसे संबंधित जो कोइ भी डेटा हम एकत्रित करते है या रखते है, उसके बारेमें गोपनीयताके लागू नियमों के अनुसार आपको अन्य अधिकारसहित निम्नलिखित अधिकार हो सकते हैं: पहुंच का अधिकार, यानी यह पुष्टि मिलनेका अधिकार कि आपका व्यक्तिगत डेटा संसाधित किया जा रहा है या नहीं, और जहां ऐसा हो रहा है वहां पहुंच प्राप्त करने के लिए; सुधार और मिटाने का अधिकार, यानी गलत डेटा को ठीक करने और / या अधूरा डेटा पूरा करने का अधिकार, और वैध कारणों के लिये व्यक्तिगत डेटा मिटाने का अधिकार; व्यक्तिगत डेटा की प्रसंस्करण पर प्रतिबंध लगाने का अधिकार, यानी वैध कारणों के लिये डेटा प्रोसेसिंग को निलंबित रखनेकी विनंती  करने का अधिकार; डेटा पोर्टेबिलिटी(वहनीय) का अधिकार, यानी एक संरचित, सामान्य रूप से उपयोग योग्य तथा आसानी से पठन करणे योग्य प्रारूप में डेटा प्राप्त करने का अधिकार, साथ ही डेटा को किसी अन्य डेटा नियंत्रक को संचारित करनेको विरोध का अधिकार, यानी डेटा की प्रसंस्करण का विरोध करने का अधिकार जहां इसके लिये वैध कारण हैं, जिसमें बाजारी और प्रोफाइलिंग उद्देश्यों के लिए संस्करण किया हुआ डेटाभी शामिल है यदि इसकी परिकल्पना की गई है; अगर गैरकानूनी डेटा प्रोसेसिंग हो तो सक्षम डेटा सुरक्षा प्राधिकरण से संपर्क करने का अधिकार।

आप [email protected] पर जाकर dhamma.org पर लिखकर ऊपरी सूचीबद्ध अधिकारों का प्रयोग कर सकते हैं। पूर्वगामी अधिकारों के अलावा, एक विपश्यना साधना शिविर या संबंधित गतिविधि के पंजीकरण करने के लिए प्रत्येक आवेदन पत्र में प्रकटीकरण और सहमति की श्रृंखला शामिल है, जो आपके अधिकारों की रक्षा के लिए भी हैं।

ऑप्ट-आऊट/ ऑप्ट-इन

स्थानीय या क्षेत्रीय विपश्यना संगठन आपको आपको अपनी सेवाओं या विपश्यना से संबंधित अन्य जानकारी के बारे में ई-मेल या डाक मेल भेजने के "ऑप्ट-आउट" करने का अवसर प्रदान कर सकते हैं। अन्य मामलों में, आपके लिए कुछ स्थानीय या क्षेत्रीय सूचना वितरण सूचियों में "ऑप्ट-इन" करना संभव हो सकता है। यदि आप अपने नाम, ईमेल पते या अन्य व्यक्तिगत रूप से पहचाने जाने योग्य जानकारी को किसी भी डेटाबेस से हटाते हैं, तो आप अपने स्थानीय या क्षेत्रीय विपश्यना संगठन से संपर्क करके और निष्कासन का अनुरोध करके ऐसा कर सकते हैं।

आप हमसे कैसे संपर्क करे

अगर आपको गोपनियता के बारेमे अथवा विपश्यना वेब साइटकी पॉलिसी अथवा इनके कार्यान्वित करनेके बारेमे कोइ शंका या प्रश्न हो तो आप [email protected] साइटपर संपर्क कर सकते हो।

प्रभावकी तारिख

यह गोपनियता नीति २५ मई २०१८ से प्रभावशाली है। हम किसी भी समय और हमारे विवेकाधिकार में इस नीति की शर्तों को संशोधित करने का अधिकार सुरक्षित रखते हैं।इस वेबसाइटका आपका उपयोग उपर दिये हुए नीतिका स्विकार किया है एसे स्थापित हो जाता है।